महिला सशक्तिकरण पर नारे सुविचार

क्या आप जानते हैं ! हम मात्र महिला सशक्तिकरण कि बात ही क्यों करते हैं पुरुषों कि नहीं ?
आखिर महिला को सशक्त बनाने कि जरूरत क्यों हैं और पुरुष को नहीं?
जबकि महिलाओं को अल्पसंख्यक नहीं माना तो उन्हें सशक्तिकरण कि जरूरत क्यों है?

यह इसलिए है क्योंकि सदियों से समाज तथा पुरुष महिलाओं के ऊपर भेदभाव, हिंसा और बुरा वर्ताव करते आरहा है। महिला सशक्तिकरण(Women Empowerment), महिलाओं को आगे बढ़ाने और उन्हें स्वयं के निर्णय लेने के लिए एक बहुत ही बड़ा कदम है जिससे कि वे समाज में व्यक्तिगत सीमाओं को दूर कर आगे बढ़ सकें और अपने विचारों को लोगों के सामने रख सकें।

महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए उन्हें सामाजिक और पारिवारिक सीमाओं को छोड़ उन्हें अपने मन, विचार, अधिकार, निर्णय आदि से सभी पहलुओं में स्वतंत्र बनाने कि आवश्यकता है। पुरुष और महिला को सामान रूप से सम्मान और कार्य मिलने की जरूरत है। महिला सशक्तिकरण प्रभावी होना समाज, देश और दुनिया के उज्जवल भविष्य के लिए बहुत ही आवश्यक है। देश को पूरी तरीके से विकसित बनाने के लिए महिलाओं को सशक्त बनाना बहुत ही जरूरी है।